Logo Naukrinama

यूपी कैबिनेट ने व्यावसायिक शिक्षा विशेषज्ञों और सुरक्षा कर्मियों के लिए वेतन में बढ़ोत्तरी को मंजूरी दी

उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में व्यावसायिक विशेषज्ञों और सुरक्षा गार्डों के लिए प्रोत्साहन में महत्वपूर्ण वृद्धि को मंजूरी दी है, जिसका उद्देश्य राज्य प्रशासन के भीतर उनके योगदान और मनोबल को बढ़ाना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक के दौरान स्वीकृत यह कदम राज्य भर में विभिन्न क्षमताओं में प्रमुख कर्मियों का समर्थन करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।
 
 
यूपी कैबिनेट ने व्यावसायिक शिक्षा विशेषज्ञों और सुरक्षा कर्मियों के लिए वेतन में बढ़ोत्तरी को मंजूरी दी

उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में व्यावसायिक विशेषज्ञों और सुरक्षा गार्डों के लिए प्रोत्साहन में महत्वपूर्ण वृद्धि को मंजूरी दी है, जिसका उद्देश्य राज्य प्रशासन के भीतर उनके योगदान और मनोबल को बढ़ाना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक के दौरान स्वीकृत यह कदम राज्य भर में विभिन्न क्षमताओं में प्रमुख कर्मियों का समर्थन करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।
UP Cabinet Clears Wage Hike for Vocational Education Experts and Guards

विशेष प्रोत्साहनों में वृद्धि

कैबिनेट के निर्णय में व्यावसायिक शिक्षा में 2,130 विषय विशेषज्ञों और राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री की सेवा में लगे 656 सुरक्षा गार्डों के लिए विशेष प्रोत्साहन में पर्याप्त वृद्धि शामिल है। यहाँ मुख्य विवरण दिए गए हैं:

  • विषय विशेषज्ञ प्रोत्साहन:

    • पहले: 15,000 रुपये
    • बढ़ाकर 20,000 रुपये किया गया
    • इंटरमीडिएट कोर्स प्रोत्साहन: 50% तक बढ़ाया गया
    • व्याख्यान शुल्क: 500 रुपये से बढ़ाकर 750 रुपये प्रति सत्र
  • सुरक्षा गार्ड प्रोत्साहन:

    • मासिक प्रोत्साहन: 12,500 रुपये से बढ़ाकर 22,000 रुपये किया गया

इन वृद्धियों के परिणामस्वरूप राज्य के खजाने पर लगभग 18.89 करोड़ रुपये का अतिरिक्त व्यय आएगा, जो महत्वपूर्ण कार्मिकों में सरकार के निवेश को दर्शाता है।

शैक्षिक सब्सिडी और शिक्षकों की पुनः नियुक्ति

एक अन्य प्रगतिशील निर्णय में, कैबिनेट ने 2,254 शिक्षकों को फिर से नियुक्त करने के लिए शैक्षणिक संस्थानों को सब्सिडी प्रदान करने का संकल्प लिया, जिनकी सेवाएं पहले समाप्त कर दी गई थीं। यह निर्णय इन शिक्षकों को बहाल करने के सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुपालन में लिया गया है, जिसमें 40 शिक्षकों को प्रारंभिक रूप से शामिल किया जाएगा और शेष को मानदेय के आधार पर नियुक्त किया जाएगा। मुख्य विवरण में शामिल हैं:

  • शिक्षक पुनर्नियुक्ति विवरण:
    • इंटरमीडिएट शिक्षक: 30,000 रुपये मासिक मानदेय
    • हाई स्कूल शिक्षक: 20,000 रुपये मासिक मानदेय

मदरसा आधुनिकीकरण योजना पर संकल्प

इसके अतिरिक्त, राज्य सरकार ने केंद्र की मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत 'आधुनिक' शिक्षकों को पहले दिए जाने वाले मानदेय को बंद करने का फैसला किया है, जिन्हें 2017 से वेतन वितरण में अनियमितताओं का सामना करना पड़ रहा था। इस निर्णय का उद्देश्य वित्तीय संवितरण को सुव्यवस्थित करना और भविष्य में वेतन भुगतान में स्थिरता सुनिश्चित करना है।