Logo Naukrinama

पेपर लीक विवाद के बीच NEET-PG प्रवेश परीक्षा स्थगित, ताज़ा तिथियों की जल्द घोषणा

मेडिकल छात्रों के लिए महत्वपूर्ण मील का पत्थर माने जाने वाली राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड की नीट-पीजी प्रवेश परीक्षा को कुछ प्रतियोगी परीक्षाओं की सत्यनिष्ठा पर चिंताओं के बीच एहतियात के तौर पर स्थगित कर दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने छात्रों को आश्वासन दिया है कि नई परीक्षा तिथियों की घोषणा जल्द ही की जाएगी।
 
 
पेपर लीक विवाद के बीच NEET-PG प्रवेश परीक्षा स्थगित, ताज़ा तिथियों की जल्द घोषणा

मेडिकल छात्रों के लिए महत्वपूर्ण मील का पत्थर माने जाने वाली राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड की नीट-पीजी प्रवेश परीक्षा को कुछ प्रतियोगी परीक्षाओं की सत्यनिष्ठा पर चिंताओं के बीच एहतियात के तौर पर स्थगित कर दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने छात्रों को आश्वासन दिया है कि नई परीक्षा तिथियों की घोषणा जल्द ही की जाएगी।
NEET-PG Entrance Exam Delayed Due to Paper Leak Controversy, New Dates Coming Soon

स्थगित करने का कारण:
प्रतियोगी परीक्षाओं की सत्यनिष्ठा पर सवाल उठाने वाले हालिया आरोपों के मद्देनजर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने NEET-PG प्रवेश परीक्षा को नियंत्रित करने वाली प्रक्रियाओं का व्यापक मूल्यांकन करने का निर्णय लिया है। इस सक्रिय कदम का उद्देश्य परीक्षा प्रक्रिया की पवित्रता और निष्पक्षता को बनाए रखना है।

आधिकारिक बयान:
स्वास्थ्य मंत्रालय ने आधिकारिक बयान जारी कर परीक्षा स्थगित होने के कारण छात्रों को हुई असुविधा पर खेद व्यक्त किया। इस बात पर जोर देते हुए कि यह निर्णय छात्रों के सर्वोत्तम हित में लिया गया है, मंत्रालय ने परीक्षा प्रणाली की अखंडता को बनाए रखने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

विपक्ष की प्रतिक्रिया:
विपक्षी नेताओं ने परीक्षा स्थगित करने के लिए सरकार की आलोचना की है और इसे प्रशासन द्वारा परीक्षाओं को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने में विफलता का एक और उदाहरण बताया है। कांग्रेस नेता जयराम रमेश और एनसीपी प्रवक्ता क्लाइड क्रैस्टो ने परीक्षा प्रक्रिया में लगातार व्यवधानों पर चिंता व्यक्त की और शिक्षा विभाग से जवाबदेही की मांग की।

कांग्रेस नेता की आलोचना:
कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने युवाओं में विश्वास की कमी की ओर इशारा करते हुए, कुशलतापूर्वक परीक्षा आयोजित करने में सरकार की अक्षमता को उजागर किया। उन्होंने परीक्षा में व्यवधान के लिए जवाबदेही पर सवाल उठाया और कदाचार की जांच पर स्पष्टता की मांग की।