Logo Naukrinama

बोर्ड परीक्षाओं का सिलेबस समय से पहले पूरा करने का तरीका: एक चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका

बोर्ड परीक्षा 2024 के लिए सर्वश्रेष्ठ समय सारिणी: देश के विभिन्न राज्यों में 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं अगले कुछ महीनों में शुरू होंगी। इस लिहाज से छात्रों के पास परीक्षा की तैयारी के लिए सिर्फ 3 महीने ही बचे हैं. ऐसे में अगर आप इन तीन महीनों में सही टाइम-टेबल के साथ परीक्षा की तैयारी करते हैं, तो आप बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक हासिल कर सकते हैं और टॉपर बन सकते हैं। ऐसे में हमने नीचे कुछ टिप्स दिए हैं, जिनका पालन करके आप बेहतर टाइम-टेबल बनाकर परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।

 
बोर्ड परीक्षाओं का सिलेबस समय से पहले पूरा करने का तरीका: एक चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका

बोर्ड परीक्षा 2024 के लिए सर्वश्रेष्ठ समय सारिणी: देश के विभिन्न राज्यों में 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं अगले कुछ महीनों में शुरू होंगी। इस लिहाज से छात्रों के पास परीक्षा की तैयारी के लिए सिर्फ 3 महीने ही बचे हैं. ऐसे में अगर आप इन तीन महीनों में सही टाइम-टेबल के साथ परीक्षा की तैयारी करते हैं, तो आप बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक हासिल कर सकते हैं और टॉपर बन सकते हैं। ऐसे में हमने नीचे कुछ टिप्स दिए हैं, जिनका पालन करके आप बेहतर टाइम-टेबल बनाकर परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।
बोर्ड परीक्षाओं का सिलेबस समय से पहले पूरा करने का तरीका: एक चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका

1. सात से आठ घंटे की नींद लें

कई छात्र जब भी बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए टाइम-टेबल बनाते हैं तो सबसे पहले अपने सोने के समय से समझौता करते हैं। वे अपने अभ्यास का समय बढ़ाते हैं और सोने का समय कम करते हैं। इसका परिणाम यह होता है कि छात्र पूरी नींद न लेने के कारण अपने टाइम-टेबल का लगातार पालन नहीं कर पाते हैं और कुछ समय बाद उन्हें नए टाइम-टेबल की आवश्यकता होती है, जिससे उनका काफी समय बर्बाद होता है। इसलिए सबसे जरूरी है कि आप 7 से 8 घंटे की नींद लें, क्योंकि अच्छी नींद लेने से ही आप पढ़ी हुई चीजों को ज्यादा से ज्यादा अपने दिमाग में स्टोर कर पाएंगे।

2. अगले दिन के लिए एक दिन पहले ही टाइम टेबल बना लें
विद्यार्थियों से अनुरोध है कि वे साप्ताहिक या मासिक टाइम टेबल बनाने के बजाय अगले दिन का टाइम टेबल एक दिन पहले ही तैयार कर लें। ऐसा करने से आप पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा और आप धीरे-धीरे अपने दीर्घकालिक लक्ष्य को हासिल कर लेंगे।

3. दिन को तीन भागों में बाँट लें
छात्रों को सबसे पहले यह ध्यान देना चाहिए कि उन्हें कौन सा विषय सबसे कठिन लगता है और कौन सा आसान। इसके बाद उन्हें अपने टाइम-टेबल के अनुसार अपने दिन को तीन स्लॉट में बांट लेना चाहिए। पसंद -

- स्कूल से पहले का समय
- स्कूल से आने और कोचिंग सीखने के बीच का समय
- रात को सोने से पहले का समय

दिन को तीन स्लॉट में बांटने के बाद पहले स्लॉट में सबसे कठिन टॉपिक पढ़ें। इसके बाद दूसरे स्लॉट में जो टॉपिक आपको सबसे आसान लगे उसे पढ़ें। इसके बाद आपको रात में यानी तीसरे स्लॉट में ऐसा विषय पढ़ना चाहिए, जिसे पढ़ते समय आपको नींद न आए यानी आप रात में मैथ्स या अकाउंट्स के सवाल हल कर सकें।

4. विषय के अनुसार समय निर्धारित करें
अपना टाइम-टेबल बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि कौन से विषय आपको कठिन लगते हैं और कौन से आसान। क्योंकि परीक्षा की तैयारी के लिए आपको उस विषय को अधिक समय देना होगा जिसमें आप कमजोर हैं। इसी तरह, आप उन विषयों पर कम समय दे सकते हैं जिन्हें आप अच्छी तरह जानते हैं।

5. प्रतिदिन स्कूल और कोचिंग जाएं
छात्रों को रोजाना स्कूल और कोचिंग जाना चाहिए और वहां पढ़ाए जाने वाले सभी विषयों पर पूरा ध्यान देना चाहिए। क्योंकि आपको स्कूल या कोचिंग में कवर किए गए कॉन्सेप्ट के लिए ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी, इससे आपका रिवीजन का समय बचेगा और आप उस समय को किसी अन्य विषय को समझने में लगा सकते हैं।

6. सप्ताह में एक बफर दिन बनाएं
आप सप्ताह के एक दिन को बफर डे के रूप में रखें। क्योंकि यदि सप्ताह के दौरान किसी कारणवश आप कुछ टॉपिक्स को कवर करना भूल जाते हैं तो बफर डे पर आप सप्ताह के बचे हुए सभी टॉपिक्स को कवर कर पाएंगे।