Logo Naukrinama
सरकारी नौकरी के बाद भी इस भर्ती परीक्षा में युवाओं ने नहीं दिखाई रुचि, आधे से भी कम रही उपस्थिति
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से रविवार को दो पारियों में हुई वनपाल भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थियों की उपस्थिति का प्रतिशत आधे से भी कम रहा है। उपस्थिति का आंकड़ा यह दर्शा रहा कि वनपाल भर्ती में युवाओं का रुझान कुछ कम रहा है। बेरोजगारी के इस दौर में किसी भर्ती में आवेदन के बाद परीक्षा में नहीं बैठने का प्रतिशत सवाल भी खड़े कर रहा है।
 
सरकारी नौकरी के बाद भी इस भर्ती परीक्षा में युवाओं ने नहीं दिखाई रुचि, आधे से भी कम रही उपस्थिति
जयपुर, 7 नवम्बर । राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से रविवार को दो पारियों में हुई वनपाल भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थियों की उपस्थिति का प्रतिशत आधे से भी कम रहा है। उपस्थिति का आंकड़ा यह दर्शा रहा कि वनपाल भर्ती में युवाओं का रुझान कुछ कम रहा है। बेरोजगारी के इस दौर में किसी भर्ती में आवेदन के बाद परीक्षा में नहीं बैठने का प्रतिशत सवाल भी खड़े कर रहा है। मुख्य कारण भर्ती के आवेदन से लेकर परीक्षा तक में हुई देरी को बताया जा रहा है। आवेदन 2020 में भरे गए थे और परीक्षा अब हुई।



इस परीक्षा की पहली पारी में 2 लाख 79 हजार 912 और दूसरी पारी में 2 लाख 79 हजार 911 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। पहली पारी में 43.75 और दूसरी पारी में 47.83 फीसदी अभ्यर्थी परीक्षा देने पहुंचे। पहले चरण की परीक्षा सुबह 10 बजे से 12 बजे तक और दूसरे चरण की परीक्षा 2.30 बजे से 4.30 बजे तक आयोजित की गई।



बोर्ड ने परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों के लिए ड्रेस कोड निर्धारित किया था। पुरुष परीक्षार्थियों के पूरी बांह की शर्ट और जूते पहनने पर रोक लगाई गई थी। अधिकतर परीक्षार्थी आधी आस्तीन की शर्ट, टी शर्ट व पेन्ट तथा चप्पल पहनकर आए थे। महिला परीक्षार्थी सलवार सूट, साड़ी, आधी आस्तीन का कुर्ता, आधी आस्तीन का ब्लाउज तथा चप्पल पहनकर आईं। उनको चूड़ियां और जेवर पहनने पर रोक रखी गई थी।